UC News

व्हाट्सएप शायद उतना बुरा नहीं

व्हाट्सएप शायद उतना बुरा नहीं

लंदन। सोशल मीडिया पर अधिक समय बिताने वाले लोगों के लिए खुशखबरी है। शोधकर्ताओं का कहना है कि व्हाट्सएप जैसे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर समय बिताना हमारे लिए अच्छा है।

मानव-कंप्यूटर अध्ययन संबंधी अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका में प्रकाशित एक शोधपत्र के अनुसार, इसमें पाया गया कि टेक्स्ट-आधारित मैसेजिंग ऐप, जो यूजर्स को ग्रुप चैट का फंक्शन प्रदान करता है, मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालती है।

अध्ययन में पाया गया कि लोगों ने जितना अधिक समय व्हाट्सएप पर बिताया, उतना ही उन्होंने अकेलापन कम महसूस किया और उनके आत्मविश्वास में वृद्धि हुई। नतीजतन, उन्होंने खुद को परिजनों और दोस्तों के साथ और अधिक नजदीक पाया।

एज हिल युनिवर्सिटी की प्रोफेसर लिंडा काये ने कहा, ‘‘इस बारे में कई बार बहस होती है कि क्या हमारा सोशल मीडिया पर समय बिताना हमारी भलाई के खिलाफ है, लेकिन हमने पाया है कि यह इतना भी बुरा नहीं, जितना इसे समझा जाता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जितना अधिक समय लोग व्हाट्सएप पर बिताएंगे, उतना ही अधिक वे अपने परिजनों और दोस्तों से जुड़ाव महसूस करेंगे। नतीजतन, वे अपने रिश्तों को और बेहतर कर पाएंगे।’’

अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 200 लोगों का चयन किया, जिसमें 158 महिलाएं और 42 पुरुष शामिल थे। सभी की औसतन उम्र 24 साल थी।

अध्ययन में पाया गया कि इसकी लोकप्रियता और ग्रुप चैट के चलते औसतन 55 मिनट तक प्रत्येक दिन व्हाट्सएप का इस्तेमाल लोगों द्वारा किया जाता है।
(आईएएनएस)

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles