UC News

Facebook ने लगाए 10 हजार से ज्यादा एप्स पर लगाए प्रतिबन्ध , वजह हैं बेहद गंभीर…

सोशल मीडिया में आजकल हर इंसान आगे से बढ़ रहा हैं. वहीं देखा जाये तो अधिकतर लोग सोशल मीडिया में व्यस्त नज़र आ रहे हैं. वहीं  सोशल मीडिया से जुड़ा हुआ Facebook जिसमे सबसे ज्यादा लोग आपको जुड़े हुए दिखाई देंगे.

Facebook ने लगाए 10 हजार से ज्यादा एप्स पर लगाए प्रतिबन्ध , वजह हैं बेहद गंभीर…

बतादें की सोशल मीडिया से जुड़ी ऐसी खबर सामने आई हैं की साल 2018 में कैंब्रिज एनालिटिका पर यूजर्स का डाटा सेल करने का आरोप लगा था।  इस मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की अमेरिकी संसद में पेशी भी हो चुकी है।

देश में कई कंपनियां कमा रही हैं भारी मुनाफा , राजीव कुमार ने उठाये बड़े सवाल…

दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) ने अपने प्लेटफॉर्म से 10 हजार से ज्यादा एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। कंपनी ने कैंब्रिज एनालिटिका के मामले को ध्यान में रखकर ये कड़ा कदम उठाया है। आपको बता दें कि वर्ष 2018 में कैंब्रिज एनालिटिका पर यूजर्स का डाटा सेल करने का आरोप लगा था।  इस मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की अमेरिकी संसद में पेशी भी हो चुकी है।

फेसबुक ने कहा है कि हमारे प्लेटफॉर्म पर इन एप्स के साथ 400 डेवलपर्स जुड़े हैं। इन एप्स ने यूजर्स के पसर्नल डाटा को नुकसान पहुंचाया था। वहीं, साल की शुरुआत में कंपनी पर यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर 5 बिलियन का जुर्माना लगा था। वहीं, कैंब्रिज एनालिटिका पर आरोप लगा था कि उसने फेसबुक के करीब 8.7 करोड़ यूजर्स का डाटा चोरी किया था। इसके बाद कई जांच हुईं और फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने इसके लिए माफी भी मांगी। राजनीतिक सलाहकार कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका ने 2016 में डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव अभियान के लिए काम किया था।

दरअसल फेसबुक के इस डाटा लीक मामले की जांच कर रही फेडरल ट्रेड कमीशन (FTC) ने कहा था कि फेसबुक ने 2011 में तैयार हुए सेफगार्ड यूजर्स प्राइवेसी के नियमों का उल्लंघन किया है। अमेरिकी व्यापार आयोग ने कैंब्रिज एनालिटिका के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा दायर कर चुका है, यह मुकदमा फेसबुक पर 5 अरब डॉलर यानी करीब 34 हजार करोड़ रुपये के जुर्माने के बाद लगा है और फेसबुक यह जुर्माना देने के लिए तैयार भी हो गया है।

=>

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles