UC News

Indian Railway में रिजर्वेशन के बाद भी सीट नहीं मिल रही ।

Indian Railway में रिजर्वेशन के बाद भी सीट नहीं मिल रही ।
internet

अगर आप भी Indian Railway की ट्रेन में सफर करते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि अभी कुछ ऐसे मामले आ रहे हैं जिसमें लोग रिजर्वेशन करा लेते हैं पर उसके बाद भी कुछ लोग उनके साथ दादागिरी करके उनको उनकी सीट पर नहीं बैठने देते हैं ।


हाल ही में एक ऐसा मामला देखने को मिला है जिसमें भोपाल एक्सप्रेस ट्रेन में एक यात्री अपनी सीट पर बैठा हुआ था उस यात्री का रिजर्वेशन था उस सीट का उसके बावजूद कुछ लोगों ने उस यात्री से पहले उसका टिकट मांगा और फिर उसके साथ मारपीट शुरू कर दी और कुछ देर बाद वहां से भाग गए ।

घटना के बाद यात्री ने जीआरपी थाने में रिपोर्ट लिखवाई और पूरे मामले को समझाया । ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब किसी यात्री के साथ मारपीट की घटना सामने आई हो । ट्रेन में अक्सर ऐसी घटनाएं देखने को मिलती रहती हैं उसके बाद भी रेलवे प्रशासन की आंखें नहीं खुल रही हैं ।

Indian Railway में रिजर्वेशन के बाद भी सीट नहीं मिल रही ।

भारत में अधिकतर लोग अपने सफर के लिए Indian Railway का इस्तेमाल करते हैं उसके बाद भी उनको अपनी सुरक्षा की समस्या सताती रहती है । क्योंकि ट्रेन में ना तो जीआरपी पुलिस और ना ही टीसी इन सभी मामलों पर ध्यान देते हैं जिससे यात्री हमेशा परेशान होते नजर आते हैं ।


अप-डाउन करने वाले यात्री करते हैं परेशान

internet

अधिकतर Indian Railway ट्रेन में देखा गया है कि लोकल यात्री जो कि एक शहर से दूसरे शहर में अप डाउन करते हैं वह लोग लंबे सफर करने वाले यात्रियों को परेशान करते हैं लंबे सफर करने वाले यात्रियों का रिजर्वेशन होने के बावजूद स्लीपर कोच में अपडाउनर चढ़ जाते हैं और जबरदस्ती सीट पर बैठते हैं जिससे कि लंबा सफर करने वाले यात्री को बहुत समस्या होती हैं ।


बिना टिकट करते हैं सफर फिर भी दादागिरी करते हैं

अक्सर देखा गया है कि बिना टिकट के ही अप डाउन करने वाले लोग ट्रेन में चढ़ जाते हैं। और उन लोगों को सीट से उठा देते हैं जिन लोगों का रिजर्वेशन है और वह बर्थ उनके लिए बुक है ऐसे में लंबा सफर करने वाले यात्री कुछ कर भी नहीं पाते हैं क्योंकि अप डाउन करने वाले लोग लोकल क्षेत्र के होते हैं और वह अपनी दादागिरी चलाते हैं।


रेल प्रशासन सो रहा है इस मामले में

internet

ndian Railway जीआरपी पुलिस और टीसी को इन मामलों की जानकारी होने के बावजूद भी वह कुछ नहीं करते हैं अब ऐसे में आम यात्री क्या करें जब रेल प्रशासन ही ऐसे मामलों में कोई सख्त कदम नहीं उठाता नजर आता है तो यात्री सिर्फ परेशान होते रहते हैं और हर जगह ट्रेन में बेबस नजर आते हैं। और लोकल यात्री सीट पर कब्जा कर लेते हैं जो कि अवैध होता है इसके खिलाफ न तो टीसी कोई कार्यवाही करते नजर आते हैं और ना ही जीआरपी पुलिस के लोग।


रिजर्वेशन कराने के फालतू पैसे क्यों दें

internet

Indian Railwayजब यात्रियों को अपनी बर्थ का रिजर्वेशन कराने के बाबजूद भी उनको उनकी बर्थ पर बैठने या लेटने का मौका नहीं मिलता है तो फिर वह रिजर्वेशन के एक्स्ट्रा पैसे क्यों दें यात्रियों द्वारा कराया गया रिजर्वेशन इस हालत में किसी काम का नहीं रहता है और वह परेशान होते रहते हैं जिसके लिए न तो शासन और न ही प्रशासन कोई कदम उठाते नजर आते हैं इस मामले की शिकायत कई बार रेलवे में हो चुकी है उसके बाद भी Indian Railway को शायद अपने यात्रियों के सुखद यात्रा के लिए कोई परवाह ही नहीं है।


Indian Railway में साफ-सफाई भी देखने को नहीं मिलती है

कुछ ट्रेनों को छोड़ दिया जाए तो अधिकतर ट्रेनों में साफ सफाई की व्यवस्था बहुत ही बुरी होती है ट्रेन के बाथरूम में बहुत गंदगी होती है जो कि लॉन्ग रूट की ट्रेन होती हैं उनमे भी साफ-सफाई देखने को नहीं मिलती है जिससे यात्री परेशान होते हैं अगर ट्रेन की साफ-सफाई हर स्टेशन पर हो तो ट्रेन में गंदगी की समस्या खत्म हो जाएगी हर स्टेशन पर ट्रेन की पूरी जांच हो तो ट्रेन हादसे से भी रुक जाएंगे अगर यह सभी चीजें रेलवे ध्यानपूर्वक करें तो यात्रियों को सुख सुविधाएं मिलने लगेंगी।


पैंट्री में नहीं मिलता अच्छा खाना

Indian Railway की ट्रेन में मौजूद पैंट्री कार मैं खाना किस तरीके का मिलता है यह बात किसी से नहीं छुपी है क्योंकि ट्रेन में मौजूद पैंट्री कार की खाने की क्वालिटी बहुत ही खराब होती है कई बार तो यह भी देखने को मिला है की पैंट्री कार मैं कॉकरोच और चूहे भी दौड़ते हुए नजर आते हैं। फिर भी लोग खाना खाने के लिए पैंट्री कार से मजबूर रहते हैं और उनको खराब खाना खाना पड़ता है जिससे उनकी सेहत खराब हो जाती है अब इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा यह समझ में नहीं आता है क्योंकि रेलवे प्रशासन से तो अब कोई उम्मीद ही नहीं लगाई जा सकती।


स्टेशनों पर मनमाने रेट में बिकता है सामान

Indian Railway के सभी स्टेशनों पर मनमाने रेट पर सामान बिकता हुआ आप सभी ने देखा होगा के स्टेशन पर हम जब कुछ भी खरीदने जाते हैं तो सामान के ऊपर लिखे हुए एम.आर.पी. से भी ज्यादा रुपए हम से वसूले जाते हैं। मजबूरी में हमको सामान खरीदना पड़ता है और ऐसे में हम बहुत बड़ी धांधली के शिकार हो जाते हैं यात्रियों को इस मनमानी का सामना करना पड़ता है ऐसे में यात्री करें तो क्या करें इसका जवाब किसी के पास नहीं है।


सामान चोरी की समस्या

ट्रेन में सफर करते समय यात्रियों को हमेशा डर रहता है कि उनका सामान चोरी ना हो जाए क्योंकि ट्रेन में बहुत सारे चोर घूमते रहते हैं जिन पर नाही रेलवे पुलिस की निगरानी है ना ही Indian Railway की पुलिस कोई कार्यवाही करती नजर आती है ऐसे में अगर यात्रियों का जरा भी ध्यान भटकता है तो उनके सामान से भरे हुए बैग चोरी हो जाते हैं और बहुत ज्यादा नुकसान यात्रियों को झेलना पड़ता है अभी तक इस समस्या का समाधान भी रेलवे नहीं ढूंढ पाई है और यात्री रोजाना परेशान होते रहते हैं।

बाहर के लोग बेचते हैं सामान

Indian Railway की ट्रेन में सफर करते समय आपने देखा ही होगा ऐसे कई लोग होते हैं जो ट्रेन में खाने पीने का सामान बेचते नजर आते हैं जिनके शरीर पर नाही पैंट्री कार की वर्दी होती है और ना ही वे रेलवे के कोई कर्मचारी होते हैं उसके बाद भी वह खाने पीने का सामान ट्रेन में भेजते रहते हैं इस पर ना तो रेलवे पुलिस ना टी.सी. और ना ही रेलवे प्रशासन कोई कार्यवाही करते हुए नहीं दिखाई देता है ।


READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles